Skip to main content

Deliver medicine at home -Necessities and things to keep in mind

Listen 👉


In today's era, when everything you want to buy, you have the option of whether you want to buy it by going to the market yourself or get it delivered to your home from your smartphone or through the internet in any way. It depends on you. And this option of home delivery is quite popular in today's times. In such a situation, this option i.e. home delivery of medicines can be very helpful and convenient in delivering the medicines to the patients or the right people and initiatives have also been taken on this option.

Deliver medicine at home -Necessities and things to keep in mind


Why is there a need for home delivery of medicines? - Due to today's lifestyle, minor illness and pain in any part of the body seems to be a common thing for most of the people. In such circumstances, it has become very important to always have some medicines in the house. Some medicines expire after some time. Some medicines can be used only for a limited period of time if using that medicine beyond a given time may prove dangerous. In such situations, there is always a need to order medicines to keep at home. Nowadays, due to the busy lifestyle people have adopted, they would not like to make frequent medical visits. Sometimes it is also seen that the patient is troubled by some physical problem or pain but he is not in a condition to go to the doctor or go to the medical store to get his medicine. And sometimes there are no people around him who can help him. Because nowadays everyone is busy, be it in their work or in employment. In such circumstances, home delivery of medicines can be very helpful and convenient for patients and needy people. Anyway, in today's time when people have started preferring to get every small thing with the convenience of home delivery, then home delivery of medicines does not seem like a big deal. After the Corona epidemic, the demand for home delivery of medicines along with other online services has increased.

There are some places in our country where medical stores are either not available and even if available, they are so far away that it is always difficult for the patient or the needy to reach there on time and get the medicine. In such a situation, the option of home delivery of medicines can be very convenient.

The option of home delivery of medicines is convenient but it is important to pay attention and be careful about some things -

Do take doctor's advice - If it is a matter of ordering medicines, then order them only after taking doctor's advice because even though you can see and understand a lot about medicines online, medicines are not like other things that you can buy as per your need. Looked at it, assessed the price, looked at reviews and ordered it. Only the doctor can properly decide which medicine you should take and in what quantity.

Choose the right and trustworthy website - Choose the right and trustworthy website to order medicines because the world of websites can be as confusing as it is attractive and convenient. Nowadays, the network of many fake websites is spread in the internet world in which you can make online payment by seeing the attractive design and offers of those websites because they do not have the option of cash on delivery but the offers and reviews are so attractive that you can make online payment. There may be many websites which can sell fake medicines by copying genuine medicines exactly.

Also take the help of customer care - Any website that provides such facilities to you definitely provides customer care number or chat facility to clear the doubts of its users and answer the questions. Therefore, it would be appropriate that if you are ordering medicine online, then first get all the information related to the medicine by calling or chatting with the customer care.

Apart from this, also keep in mind whether the medicines you have ordered online are the same or have they been changed. Check the doctor's prescription and take those medicines only if found appropriate. Do not forget to take the bill for the medicines ordered so that you can reclaim them in case of wrong medicines.

Deliver medicine at home -Necessities and things to keep in mind

By keeping the mentioned things in mind and putting them into practice, you can take full advantage of the facility of home delivery of medicines. Or if you want to avail the facility of home delivery of medicines in any way, then you can avail the benefits in a safe and proper manner by keeping in mind the things mentioned above and related things.

Comments

Popular posts from this blog

वह दिन - एक सच्चा अनुभव

 सुनें 👇 उस दिन मेरे भाई ने दुकान से फ़ोन किया की वह अपना बैग घर में भूल गया है ,जल्दी से वह बैग दुकान पहुँचा दो । मैं उसका बैग लेकर घर से मोटरसाईकल पर दुकान की तरफ निकला। अभी आधी दुरी भी पार नहीं हुआ था की मोटरसाइकल की गति अपने आप धीरे होने लगी और  थोड़ी देर में मोटरसाइकिल बंद हो गयी। मैंने चेक किया तो पाया की मोटरसाइकल का पेट्रोल ख़त्म हो गया है। मैंने सोचा ये कैसे हो गया ! अभी कल तो ज्यादा पेट्रोल था ,किसी ने निकाल लिया क्या ! या फिर किसी ने इसका बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया होगा। मुझे एक बार घर से निकलते समय देख लेना चाहिए था। अब क्या करूँ ? मेरे साथ ही ऐसा क्यों होता है ?  मोटरसाइकिल चलाना  ऐसे समय पर भगवान की याद आ ही जाती है। मैंने भी मन ही मन भगवान को याद किया और कहा हे भगवान कैसे भी ये मोटरसाइकल चालू हो जाये और मैं पेट्रोल पंप तक पहुँच जाऊँ। भगवान से ऐसे प्रार्थना करने के बाद मैंने मोटरसाइकिल को किक मार कर चालू करने की बहुत कोशिश किया लेकिन मोटरसाइकल चालू नहीं हुई। और फिर मैंने ये मान लिया की पेट्रोल ख़त्म हो चूका है मोटरसाइकल ऐसे नहीं चलने वाली।  आखिर मुझे चलना तो है ही क्योंकि पेट

व्यवहारिक जीवन और शिक्षा

सुनें 👇 एक दिन दोपहर को अपने काम से थोड़ा ब्रेक लेकर जब मैं अपनी छत की गैलरी में टहल रहा था और धुप सेंक रहा था। अब क्या है की उस दिन ठंडी ज्यादा महसूस हो रही थी। तभी मेरी नज़र आसमान में उड़ती दो पतंगों पर पड़ी। उन पतंगों को देखकर अच्छा लग रहा था। उन पतंगों को देखकर मैं सोच रहा था ,कभी मैं भी जब बच्चा था और गांव में था तो मैं पतंग उड़ाने का शौकीन था। मैंने बहुत पतंगे उड़ाई हैं कभी खरीदकर तो कभी अख़बार से बनाकर। पता नहीं अब वैसे पतंग  उड़ा पाऊँगा की नहीं। गैलरी में खड़ा होना    पतंगों को उड़ते देखते हुए यही सब सोच रहा था। तभी मेरे किराये में रहने वाली एक महिला आयी हाथ में कुछ लेकर कपडे से ढके हुए और मम्मी के बारे में पूछा तो मैंने बताया नीचे होंगी रसोई में। वो नीचे चली गयी और मैं फिर से उन पतंगों की तरफ देखने लगा। मैंने देखा एक पतंग कट गयी और हवा में आज़ाद कहीं गिरने लगी। अगर अभी मैं बच्चा होता तो वो पतंग लूटने के लिए दौड़ पड़ता। उस कटी हुई पतंग को गिरते हुए देखते हुए मुझे अपने बचपन की वो शाम याद आ गई। हाथ में पतंग  मैं अपने गांव के घर के दो तले पर से पतंग उड़ा रहा था वो भी सिलाई वाली रील से। मैंने प

अनुभव पत्र

सुनें 👉 आज मैं बहुत दिनों बाद अपने ऑफिस गया लगभग एक साल बाद इस उम्मीद में की आज मुझे मेरा एक्सपीरियंस लेटर मिल जाएगा। वैसे मै ऑफिस दोबारा कभी नहीं जाना चाहता 😓लेकिन मजबूरी है 😓क्योंकि एक साल हो गए ऑफिस छोड़े हुए😎।नियम के मुताबिक ऑफिस छोड़ने के 45 दिन के बाद  मेरे ईमेल एकाउंट मे एक्सपीरियंस लेटर आ जाना चाहिए था☝। आखिर जिंदगी के पाँच साल उस ऑफिस में दिए हैं एक्सपीरियंस लेटर तो लेना ही चाहिए। मेरा काम वैसे तो सिर्फ 10 मिनट का है लेकिन देखता हूँ कितना समय लगता है😕।  समय  फिर याद आया कुणाल को तो बताना ही भूल गया😥। हमने तय किया था की एक्सपीरियंस लेटर लेने हम साथ में जायेंगे😇  सोचा चलो कोई बात नहीं ऑफिस पहुँच कर उसको फ़ोन कर दूंगा😑। मैं भी कौन सा ये सोच कर निकला था की ऑफिस जाना है एक्सपीरियंस लेटर लेने।आया तो दूसरे काम से था जो हुआ नहीं सोचा चलो ऑफिस में भी चल के देख लेत्ते हैं😊। आखिर आज नहीं जाऊंगा तो कभी तो जाना ही है इससे अच्छा आज ही चल लेते है👌। गाड़ी में पेट्रोल भी कम है उधर रास्ते में एटीएम भी है पैसे भी निकालने है और वापस आते वक़्त पेट्रोल भी भरा लूंगा👍।  ऑफिस जाना  पैसे निकालने